"हरियाणा में कांग्रेस का कोई भविष्य नहीं" : किरण चौधरी

विधानसभा चुनाव से पहले हरियाणा कांग्रेस में एक बड़ी चिंता का विषय बन गया है। वरिष्ठ कांग्रेस नेता किरण चौधरी ने यहां तक कह दिया है कि हरियाणा में कांग्रेस का कोई भविष्य नजर नहीं आ रहा है।
"हरियाणा में कांग्रेस का कोई भविष्य नहीं" : किरण चौधरी

हरियाणा कांग्रेस में राजनीतिक टकराव लगातार जारी है। ऐसे में किरण चौधरी ने भी एक महत्वपूर्ण बयान दिया है। जो आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को बहुत चिंतित कर सकता है। किरण चौधरी ने कहा कि कांग्रेस का हरियाणा में कोई भविष्य नहीं है। इसके साथ ही, उन्होंने कांग्रेस प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया को भी लेकर बड़ी बात कही।

लोकसभा चुनाव के बाद हरियाणा में अब विधानसभा चुनाव की हलचल तेज हो गई है। इससे राज्य की राजनीति में महत्वपूर्ण बदलाव के संकेत मिलने लगे हैं। साथ ही, तोशाम से विधायक और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता किरण चौधरी ने कहा कि हरियाणा में कांग्रेस का अब कोई भविष्य नहीं है। साथ ही, कांग्रेस छोड़ने का प्रश्न उठाते हुए कहा कि ये भगवान की इच्छा पर निर्भर है। किरण चौधरी ने इस दौरान सिरसा सांसद कुमारी सैलजा की प्रशंसा करते हुए पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा पर एक बार फिर गंभीर आरोप लगाए हैं।

किरण चौधरी ने हुड्डा पर साधा निशाना

किरण चौधरी ने भिवानी में मीडिया से बातचीत करते हुए हुड्डा का नाम लिए बिना कहा कि हरियाणा में लोकसभा टिकट वितरण में साजिश रची गई। किरण चौधरी ने कहा कि अगर टिकट सही तरीके से बांटे गए होते तो भिवानी और गुरुग्राम की सीटें कांग्रेस की झोली में होती। उन्होंने कहा कि सोनीपत उनका गढ़ है, जहां से पिछली बार हारे थे और इस बार 20-25 हजार की जीत मामूली बात है। उन्होंने कहा कि सबको पता है कि 10 साल में उन्होंने कांग्रेस को 67 सीटों से कैसे नीचे ला दिया। प्रदेश में हालात ठीक नहीं हैं।

दीपक बावरिया पर कही ये बात

किरण चौधरी ने प्रदेश कांग्रेस प्रभारी दीपक बावरिया को लेकर भी एक महत्वपूर्ण बयान दिया है। उनका दावा था कि आज चुनाव के नतीजे बदल जाते अगर दीपक बावरिया एकतरफा निर्णय नहीं लेते। क्योंकि हमारे साथ जनता थी। आज हरियाणा में कांग्रेस की जीत के लिए हम जनता के आभारी हैं।

'मान सम्मान से ऊपर कुछ नहीं'

किरण चौधरी ने कहा कि हमने किसी का पैसा नहीं खाया है और न ही हमारे ऊपर ईडी का शिकंजा है। जैसे अन्य लोगों पर आरोप लगे हैं और उन पर ईडी का शिकंजा है, हजारों करोड़ के घोटाले के आरोप हैं। हमारे ऊपर ऐसा कोई आरोप नहीं है। न ही हमने किसी की जमीन हड़पी है और न ही पर्ची खर्ची की व्यवस्था शुरू की है। उन्होंने राव दान सिंह और भूपेंद्र हुड्डा पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि अगर बड़े नेता चाहते हैं कि हम उनके अधीन काम करें और उनसे सहमत हों, तो ऐसा नहीं हो सकता। हर व्यक्ति का सम्मान होता है। हमारे जैसे लोगों के लिए सम्मान से बढ़कर कुछ नहीं है।

logo
NewsCrunch
news-crunch.com