स्वामी प्रसाद मौर्य के ‘हिंदू विरोधी’ बयानों पर अखिलेश का एक्शन

स्वामी प्रसाद मौर्य के ‘हिंदू विरोधी’ बयानों पर अखिलेश का एक्शन

समाजवादी पार्टी (SP) के ब्राह्मण सम्मेलन में पूर्व मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के बयानों की शिकायत पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने इस तरह की चीजों पर अंकुश लगाने की बात कही है।

समाजवादी पार्टी उत्तर प्रदेश में PDA (पिछड़ा, दलित, अल्पसंख्यक) के फॉर्मले के साथ लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections) में आगे बढ़ रही है। इस क्रम में सपा ने ब्राह्मण समाज (brahmin society) को साधने के लिए प्रदेश मुख्यालय में महा ब्राह्मण महापंचायत (Maha Brahmin Mahapanchayat) का आयोजन किया। अखिलेश यादव खुद इस पंचायत में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए और ब्राह्मण समाज से भाजपा को सत्ता से हटाने में साथ देने की अपील की।

महा ब्राह्मण महापंचायत में उठा विवादों बयानों का मुद्दा

पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं का मानना है कि धर्म और जाति पर टिप्पणी नहीं होनी चाहिए। स्वामी मौर्य (Swami Prasad Maurya) के बयानों के बीच सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने बड़ी नसीहत दी है। दरअसल लखनऊ में पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में कन्नौज के प्रबुद्ध समाज और महा ब्राह्मण समाज पंचायत के प्रतिनिधियों को अखिलेश ने संबोधित किया, जिस दौरान राज्य कार्यकारिणी में कुछ पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने बिना नाम लिए स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) के बयानों पर आपत्ति जताई और साथ ही इस पर रोक लगाने की भी मांग की।

पहले भी हो चुकी है ‘मौर्य’ के बयानों की शिकायत

पंचायत में जब बात उठी तो अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने भी माना कि इस चीज़ पर हर हाल में निंत्रयण लगना चाहिए। असल में इससे पहले भी सपा के कई ब्राह्मण नेता अखिलेश यादव से स्वामी प्रसाद मौर्य के बयानों की शिकायत कर चुके हैं।

logo
NewsCrunch
news-crunch.com