पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह की मूर्ति पर विवाद

हिमाचल प्रदेश में पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह की मूर्ति को लेकर अब कांग्रेस दो राय में बंटती नजर आ रही है। इससे पहले बेटे विक्रमादित्य सिंह मूर्ति की मांग कर चुके है।
पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह की मूर्ति पर विवाद

रिज मैदान में पूर्व वीरभद्र सिंह की मूर्ति लगाने की मांग

स्वर्गीय पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह के निधन के बाद बेटे विक्रमादित्य सिंह और पार्टी कार्यकर्ता मूर्ति, रिज मैदान में लगाने की मांग कर रहे हैं। अभी उनकी मूर्ति एक कुमारसैन के सैंज में लगाई गई है। पहले की बीजेपी सरकार में रिज मैदान में मूर्ति लगाने का फैसला लिया गया था। लेकिन सरकार बदलने के बाद इस पर कोई काम नहीं हुआ है।

रिज मैदान में मूर्ति लगाने पर अड़े परिजन

इस मामले में मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि स्वर्गीय वीरभद्र सिंह की शिमला में मूर्ति स्थापित की जाएगी। रिज मैदान में पहले से ही राष्ट्रीय नेताओं की मूर्तियां लगी हुई हैं। दरअसल हिमाचल प्रदेश के रिज मैदान पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह की प्रतिमा लगाने को लेकर सीएम और प्रदेश अध्यक्ष प्रतिभा सिंह आमने सामने हैं।

प्रतिमा लगाने की मांग पर अड़े विक्रमादित्य सिंह

मंत्री विक्रमादित्य सिंह ने प्रदेश सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि मेरे पिताजी की मूर्ति स्थापित करने के लिए प्रदेश सरकार दो गज भी जमीन नहीं दे रही हैं। इससे नाराज विक्रमादित्य सिंह ने प्रदेश में 27 फरवरी को राज्यसभा चुनाव के समय मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। लेकिन इस इस्तीफे को पार्टी हाईकमान ने मंजूर नहीं किया था।

प्रदेश अध्यक्ष और सांसद प्रतिभा सिंह ने कहा कि वीरभद्र सिंह राष्ट्रीय स्तर के नेता थे। उन्होंने मुख्यमंत्री, केंद्रीय मंत्री और सांसद होने के नाते सामान्य से लेकर जनजातीय क्षेत्रों तक विकास करवाया था। साथ ही प्रदेश की सेवा के लिए बहुत काम किया था। इसीलिए अब उनकी मूर्ति रिज मैदान में स्थापित होनी चाहिए।

logo
NewsCrunch
news-crunch.com