गुजरात विधानसभा उपचुनाव में भाजपा की ऐतिहासिक जीत

गुजरात विधानसभा में भाजपा के सदस्यों की संख्या 156 से 161 पर पहुंचने के बाद यह कहना कि यह एक ऐतिहासिक जीत है, बिल्कुल गलत नहीं होगा।
गुजरात विधानसभा उपचुनाव में भाजपा की ऐतिहासिक जीत

गुजरात विधानसभा में भाजपा के सदस्यों की संख्या 156 से 161 पर पहुंचने के बाद यह कहना कि यह एक ऐतिहासिक जीत है, बिल्कुल गलत नहीं होगा।

यह अद्वितीय उपलब्धि उन पांच भाजपा उम्मीदवारों की जीत के बाद हुई, जिन्होंने गुजरात विधानसभा के सदस्य के रूप में उपचुनाव जीता और उन्होंने सभा अध्यक्ष शंकर चौधरी के सामने विधायक का पद ग्रहण किया।

पोरबंदर से अर्जुन मोढवाडिया, माणावदर से अरविंद लदानी, वाघोडिया से धर्मेंद्रसिंह जाडेजा, खंभात से चिराग पटेल, और विजापुर से सीजे चावड़ा - ये सभी पांचों उम्मीदवार पहले कांग्रेस के विधायक थे, जिन्होंने लोकसभा चुनाव से पहले अपने विधायक पद से इस्तीफा दिया और फिर भाजपा में शामिल हुए। इन सीटों के लिए उपचुनाव लोकसभा चुनाव के साथ हुए थे और भाजपा ने सभी पांच सीटों पर जीत हासिल की।

2022 के विधानसभा चुनाव में भाजपा के सदस्यों की संख्या को 156 से 161 पर ले जाने के बाद, अब गुजरात विधानसभा में सभी 5 सीटों पर भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवारों की जीत ने उसकी ताकत को और भी मजबूत बना दिया है।

अगला विधानसभा सीट का उपचुनाव विसावदर में होगा, जो एक आम आदमी पार्टी (आप) के एक विधायक के भाजपा में शामिल होने के कारण रिक्त हो गई है। अदालत में चल रहे कानूनी मामलों के कारण, विसावदर के लिए उपचुनाव की तारीख अभी तक घोषित नहीं की गई है। इसके अलावा, बनासकांठा से लोकसभा चुनाव जीतने के कारण कांग्रेस विधायक गनीबेन ठाकोर भी 13 जून को विधायक पद से इस्तीफा देंगी।

यदि आने वाले समय में इन दोनों सीटों पर होने वाले उपचुनाव में भाजपा जीतती है, तो 90 फीसदी से अधिक सीटों पर भाजपा के सदस्यों का कब्जा होगा।

logo
NewsCrunch
news-crunch.com