CM मोहन यादव ने मेट्रो कार्यों की समीक्षा की

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव (CM Mohan Yadav) ने शनिवार को भोपाल और इंदौर मेट्रो के कार्य प्रगति की समीक्षा की।
CM मोहन यादव ने मेट्रो कार्यों की समीक्षा की

मध्य प्रदेश के भोपाल और इंदौर में मेट्रो प्रोजेक्ट के काम की प्रदेश के सीएम मोहन यादव (CM Mohan Yadav)  ने अब तक हुए काम का प्रजेंटेशन देखा और प्रोजेक्ट के अगले कामों पर मंत्री-अफसरों से चर्चा की। भोपाल में साल 2027 तक एक फेज (एम्स से करोंद तक) पूरा होगा। एम्स से सुभाष नगर प्रॉयोरिटी कॉरिडोर (Priority Corridor) का काम 90% तक हो चुका है, जबकि अब दूसरे फेज सुभाषनगर से करोंद रूट का काम शुरू होना है। सीएम डॉ. यादव ने इस फेज की समीक्षा की।

मेट्रो प्रोजेक्ट को लेकर सीएम की उच्चस्तरीय बैठक

मेट्रो प्रोजेक्ट की समीक्षा बैठक पर मुख्यमंत्री मोहन यादव (CM Mohan Yadav) का कहना है, ''मैंने विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की है। मेट्रो प्रोजेक्ट की मंजूरी से लेकर अब तक की जानकारी ली गई, कुछ फैसले लिए गए भविष्य को ध्यान में रखते हुए लिया गया है। फिजिबिलिटी रिपोर्ट (feasibility report) आ गई है, उज्जैन से इंदौर तक भी मेट्रो (Metro) बिछाई जानी चाहिए।

महिला और दिव्यांगों को विशेष सुविधा देने पर मंथन

भोपाल में 27 और इंदौर में 25 मेट्रो ट्रेनें चलाई जाएंगी। इसके साथ ही मेट्रो स्टेशन (Metro station) पर महिलाओं और दिव्यांगजनों का विशेष ध्यान रखते हुए यात्रियों को कई सुविधाएं दी जाएंगी।

2027 तक संपन्न होगा मेट्रो का कार्य

इसबैठकमेंअधिकारियोंनेबतायाकिभोपालमेट्रोप्रोजेक्ट (Bhopal Metro Project) केतहतसुभाषनगरसेलेकरकरोंदकेरूटपरजल्दहीकामशुरूकियाजाएगा।इसरूटहोनेवालेकामकोलेकरबैठकमेंकाफीचर्चाकीहुई।मीटिंगमेंअधिकारियोंनेबतायाकिभोपालमेट्रोप्रोजेक्ट(Metro station MP) कासाराकामसाल 2027 तकपूराहोजाएगा।इसकेसाथहीबतायाकिसाल 2031 तकभोपालमेट्रोसेकरीब 4.5 लाखलोगरोजानासफरकरपाएंगे।

logo
NewsCrunch
news-crunch.com