पर्यटन नगरी हिमाचल में गहराया जल संकट

भीषण गर्मी में पानी की समास्या हर जगह देखने को मिल रही है। ऐसे में पर्यटन के लिए मशहूर हिमाचल प्रदेश में लोग पानी की कमी से दो चार हो रहे हैं।
पर्यटन नगरी हिमाचल में गहराया जल संकट

सरकार ने साध ली है चुप्पी: जयराम ठाकुर

नेता प्रतिपक्ष ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा,- राज्य सरकार इस मामले में पूरी तरह से विफल है। सरकार को इस पर गंभीरता से सोच -विचार करना चाहिए और इस समस्या के समाधान के लिए जल्द से जल्द ठोस कदम उठाने होंगे।  

बेहतर योजना पर काम करें सरकार: नेता प्रतिपक्ष

नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर ने मीडिया से बात करते हुए बताया,-इसके लिए राज्य सरकार को पहले से ही खास प्रबंध करने चाहिए थे। लेकिन सरकार जल संकट जैसी गंभीर समस्या पर ध्यान नहीं दे रही है। जिसके कारण लोग पानी की कमी से जूझ रहे हैं। प्रदेश सरकार को इसके लिए ठोस योजना बनानी चाहिए थी और संभावित चुनौतियों के लिए तैयार रहना था। जनता को हर एक ज़रूरी सुविधाओं के लिए परेशान नहीं किया जा सकता है। प्रदेश सरकार अपना फर्ज निभाएं, जिससे जनता को इस तरह की समस्या का सामना न करना पड़े।

पर्यटन उद्योग पर असर की संभावना।

गर्मी के मौसम में पानी (Water) की मांग को पूरा करना सरकार के लिए बड़ी जिम्मेदारी होती है। हिमाचल प्रदेश में पर्यटक घूमने के लिए भारी संख्या में गर्मी के सीजन में आते हैं, जिसके कारण होटल में भी पानी की मांग बढ़ जाती है। जबकि स्थानीय लोगों का कहना है कि प्रदेश में कई जगहों पर 4 से पांच दिनों में पानी की सप्लाई हो रही है।

logo
NewsCrunch
news-crunch.com