जेपी नड्डा राज्यसभा में सदन के नेता बने

पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने उत्तरी मुंबई से सांसद निर्वाचित होने के बाद राज्यसभा में सदन के नेता पद से इस्तीफा दिया, उनकी जगह केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा को राज्यसभा में सदन का नेता नियुक्त किया गया।
जेपी नड्डा राज्यसभा में सदन के नेता बने

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने उत्तरी मुंबई से सांसद निर्वाचित होने के बाद राज्यसभा में सदन के नेता पद से इस्तीफा दिया, उनके स्थान पर केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा (JP Nadda) को राज्यसभा में सदन का नेता  (Leader of the House in the Rajya Sabha) नियुक्त किया गया।

18वीं लोकसभा के पहले सत्र की पहली बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi), मंत्रिपरिषद अन्य नवनिर्वाचित सदस्यों ने सदन के सदस्य के रूप में शपथ ग्रहण की।आज प्रोटेम स्पीकर भर्तुहरी महताब (Pro Tem Speaker Bhartruhari Mahtab) ने संसद की कार्यवाही की अध्यक्षता की। कुछ दिन पहले ही जेपी नड्डा को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय और उर्वरक तथा रसायन मंत्रालय का दायित्व दिया गया। जेपी नड्डा का नाम बतौर नेता सदन राज्यसभा की वेबसाइट पर भी डाल दिया गया हैं।

वर्तमान समय में जेपी नड्डा भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं भारत के वरिष्ठ सदन राज्यसभा के सांसद हैं। मार्च 2024 में जेपी नड्डा गुजरात (Gujarat) से राज्यसभा के लिए निर्विरोध निर्वाचित हुए एवं 6 अप्रैल 2024 को शपथ ग्रहण की।

केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा (JP Nadda) का जन्म 2 दिसम्बर 1960 को बिहार (Bihar) के पटना (Patna) में नारायण लाल नड्डा और कृष्ण नड्डा के परिवार में हुआ था। जेपी नड्डा ने पटना के सेंट जेवियर स्कूल से शिक्षा प्राप्त की। फिर उन्होंने  पटना कॉलेज, पटना विश्वविद्यालय से बी.ए और हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय, शिमला के विधि संकाय से एल.एल.बी. किया । इसके अतिरिक्त बाल्य अवस्था में उन्होंने दिल्ली में आयोजित अखिल भारतीय जूनियर तैराकी चैंपियनशिप में बिहार का प्रतिनिधित्व किया था।जेपी नड्डा ने अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़कर वर्ष 1989 में एबीवीपी के राष्ट्रीय मंत्री पद प्राप्त किया। उन्होंने जय प्रकाश नारायण द्वारा चलाए गए विभिन्न आदोलनों में सक्रियता से भागीदारी निभाई।

केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा (JP Nadda) वर्ष 1991 में भारतीय जनता युवा मोर्चा (BJYM) के अध्यक्ष (President) , वर्ष 1993 में पहली बार हिमाचल प्रदेश विधान सभा में विधायक (MLA) एवं नेता प्रतिपक्ष बने। वर्ष 1998 में दोबारा चुनाव जीते और व भाजपा सरकार में स्वास्थ्य मंत्री बने। वर्ष 2010 में भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री व वर्ष 2012 में राज्यसभा के सदस्य बने। वर्ष 2014-2019 तक जेपी नड्डा ने भारत सरकार में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के दायित्व का निर्वहन किया। जून 2019 में जेपी नड्डा भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष एवं जनवरी 2020 में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष (National President) बने। इसके पश्चात सितंबर 2022 में पुनः वर्ष 2024 के लोकसभा चुनाव तक पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बने रहने का अवसर मिला। जेपी नड्डा ने जनवरी 2021 में पश्चिम बंगाल (West Bengal) के बर्धमान (Bardhaman) क्षेत्र में एक मुट्ठी चावल योजना आरम्भ की।

logo
NewsCrunch
news-crunch.com