श्रीलंका यात्रा पर पहुंचे विदेश मंत्री एस जयशंकर

भारत के विदेश मंत्री डॉ.एस जयशंकर (Foreign Minister S. Jaishankar) श्रीलंका पहुंचे, जहां उन्होंने श्रीलंका के प्रधानमंत्री दिनेश गुणवर्धने (Sri Lanka Prime Minister Dinesh Gunawardene) से मुलाकात की।
श्रीलंका यात्रा पर पहुंचे विदेश मंत्री एस जयशंकर

श्रीलंका (Sri Lanka) यात्रा के दौरान विदेश मंत्री एस जयशंकर (S. Jaishankar) ने दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने के लिए शीर्ष नेतृत्व के साथ बैठक में शामिल होंगे। कोलंबो पहुंचने पर विदेश राज्य मंत्री थारका बालासुरिया (Country Minister of State Tharaka Balasuriya) और पूर्वी प्रांत के गवर्नर सेंथिल थोंडमन (Governor of Eastern Province Senthil Thondaman) ने विदेश मंत्री का स्वागत किया।

जयशंकर ने सोशल मीडिया साइड ‘एक्स’ (X) पर पोस्ट में कहा,‘‘ नए कार्यकाल की पहली यात्रा पर कोलंबो पहुंचा। श्रीलंका में विदेश राज्य मंत्री और पूर्वी प्रांत के गवर्नर के गर्मजोशी भरे स्वागत का धन्यवाद दिया।

विदेश मंत्री ने श्रीलंकाई पीएम (Sri Lankan PM)के साथ अपनी बैठक में कहा, "विकास और कनेक्टिविटी पहल के माध्यम से भारत (India) के मजबूत समर्थन को दोहराया है। ऐसा विश्वास है कि हमारे विकास सहायता और क्षमता निर्माण कार्यक्रम श्रीलंका के लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करते रहेंगे।"

दरअसल भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर गुरुवार को श्रीलंका पहुंचे। यह उनके दूसरे कार्यकाल की पहली विदेश यात्रा है। श्रीलंका दौरे पर विदेश मंत्री एस जयशंकर द्विपक्षीय संबंधों (Bilateral Relations) को मजबूत करने के लिए शीर्ष नेतृत्व के साथ बैठकें कर रहे हैं। जयशंकर का कोलंबो पहुंचने पर श्रीलंका के विदेश राज्य मंत्री थारका बालासुरिया और पूर्वी प्रांत के राज्यपाल सेंथिल थोंडामन ने उनका स्वागत किया।

इधर तमिलनाडू (Tamil Nadu) के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन (CM MK Stalin) ने विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर को पत्र लिखकर श्रीलंकाई नौसेना (Sri Lankan Navy) द्वारा गिरफ्तार किए गए भारतीय मछुआरों की रिहाई के लिए तत्काल हस्तक्षेप करने की मांग की है।

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक चार मछुआरों को मंगलवार की सुबह श्रीलंकाई नौसेना (Sri Lankan Navy)  ने गिरफ्तार किया था और उनके ट्रॉलर जब्त कर लियए थे। गिरफ्तारी के एक दिन बाद एमके स्टालिन (MK Stalin) ने मामले की ओर ध्यान आकर्षित करने के लिए एस जयशंकर को पत्र लिखा।

logo
NewsCrunch
news-crunch.com